संघर्ष

संघर्ष

संघर्ष जिंदगी का कभी ख़त्म नही होता,
होते है आशाएं खंडित,स्वप्न ख़त्म नही होता,
चार दिन प्यार के ,चार दिन नफ़रत के मिलेंगे,
पर चार दिनों में कोई रिश्ता ख़त्म नही होता।।

बचपन चला गया ,जवानी भी चली जाएगी,
बुडापा आएगा तो कुछ उम्मीदें धरी रह जाएँगी,
पर जिंदगी जीने का कभी साहस ख़त्म नही होता।।

होता है विश्वास् जिनपर,अक्सर वही धोखा दे जाते है,
बनी हुई उम्मीदें उनसे फिर टूट जाते है,
पर एक दिन वो बदलेंगे,ये विश्वास ख़त्म नही होता।।

आशा निराशातो जिंदगी का ऊसूल है,
आज मिटटी है तो कल धुल है,
पर कब तक टिकेगी निराशा जीवन में
क्योंकि जब तक सूर्य है,कभी प्रकाश ख़त्म नही होता।।

Submited By-
Shubham Naik
shubhamnaik47@gmail.com